Tuesday, October 4, 2011

तुमसे फुर्सत में बात कर लेंगे

तुमसे फुर्सत में बात कर लेंगे
अभी जिंदा हैं तो सो लेने दो
अभी से चाँद को क्यूँ तकते हो
ज़रा शाम भी तो हो लेने दो

2 comments:

रविकर said...

खूबसूरत |
सादर नमन ||

http://neemnimbouri.blogspot.com/2011/10/blog-post.html

Anonymous said...

[url=http://www.flickr.com/people/73433313@N06/]buying online zithromax[/url]

http://www.flickr.com/people/73433313@N06/

चल दोबारा ज़िन्दगी से प्यार कर

तू किसी शोख़ का सिंगार कर रख भी दे ये ख़ामोशी उतार कर तीरगी ये पल में टूट जायेगी  चल दोबारा ज़िन्दगी से प्यार कर एक ही नहीं कई शिकायतें ...